मम्मी के साथ ग्रुप चुदाई

 
loading...

दोस्तों, मेरा नाम है जन्नत खान है और मेरी माँ का नाम है मिसेस सबीना हम दोनों दोस्त बन कर रहती है . एक दूसरे के सामने नंगी रहती है . एक दूसरे के सामने भकाभक चुदवाती है . एक दूसरे की बुर में लण्ड पेलती है . लण्ड अदल बदल कर चुदवाती है . कभी कभी लण्ड एक साथ मिलकर चूसती हूँ . मैं बड़ा मज़ा करती हूँ माँ के साथ और माँ भी खूब एन्जॉय करती है मेरे साथ . माँ मेरे लिए “लन्ड” लाती है और मैं माँ के लिए “लन्ड” लाती हूँ . ऐसा कैसे हुआ ? कब हुआ ? इसकी एक लम्बी कहानी है . फिर कभी मौका मिलेगा तो आपको सुनाऊंगी . अभी तो देखो कोई दरवाजा खटखटा रहा है . मैं खोल कर देखती हूँ की कौन है ? हां हां दरवाजा खोल कर बुर खोल कर नहीं ?
दोस्तों, मैं जानती हूँ की इस समय आपका हाथ आपके “लन्ड” पर होगा . आपका “लन्ड” खड़ा है .टन टना रहा है मेरी कहानी पढ़ कर . तो फिर पूरा मज़ा लीजिये न ? कमरे का दरवाजा बंद कर दो और पूरे नंगे होकर पढो मेरी सच्ची कहानी . तुम्हे भी मज़ा आएगा और तुम्हारे “लन्ड” को भी . अगर कोई मिले तो चोदना भी शुरू कर सकते हो ? यदि आप पढ़ रही है तो आपका हाथ चूंची पर होगा या फिर चूत पर आप खूब मज़ा कीजिये और कोई साथी ढूंढ लीजिये . अपने पति को साथ लेकर सेक्स कीजिये . पति न हो तो बॉय फ्रेंड का साथ लीजिये . जवानी का मज़ा पूरा लीजिये . मेरे पास कई सन्देश आये है . जिन लोगों ने सेक्स करना छोड़ दिया था वे मेरी कहानी पढ़ पढ़ कर फिर से सेक्स करने लगे है . लोगों के “लन्ड” दुगुना खड़े होने लगे है . बड़े सख्त ही जाते है “लन्ड” मेरी कहानियां पढ़ कर .
हां तो मैंने जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा की मेरे सामने अनवर अंकल खड़े है . हां हां वही अनवर अंकल जिनसे मैं अभी अभी चुदवा कर आयी हूँ . जिसके “लन्ड” के बारे में मैंने आपको बताया ? मेरी माँ को अंकल के “लन्ड” का बड़ा इंतज़ार था . अब मैं माँ को बुलाकर अंकल से मिलवा देती हूँ . मैंने अंकल को बैठाया और माँ को आवाज़ दी . माँ आ गयी . मैंने कहा अनवर अंकल ये है मेरी माँ सबीना और माँ ये है अनवर अंकल जिनके “लन्ड” के बार में मैंने तुम्हे बताया है . अंकल को भी भोषडा चोदने का शौक है . मैंने इसीलिए इसे यहाँ बुलाया है . अम्मी मुझे यकीं है की तुम्हे अंकल का “लन्ड” जरुर पसंद आएगा ? आज तेरे भोषडा को सही सही पता चलेगा की “लन्ड” क्या होता है ?
मेरी माँ बोली :- अरी मेरी जन्नत बिटिया मैंने इतनी बड़ी ज़िन्दगी में सैकड़ों “लन्ड” देखे है . जाने कितने “लन्ड” मेरी चूत की सैर कर चुके है .सैकड़ों तरह के “लन्ड” मुझे चोद चुके है . हां पर हर एक “लण्ड” का अपना अलग ही मज़ा होता है . आज मैं अनवर के “लन्ड” का मज़ा लूंगी . माँ ने अंकल के “लन्ड” पर हाथ रख कहा . अंकल की लुंगी के अन्दर हाथ दाल दिया माँ ने . अंकल लुंगी के अन्दर कुछ भी पहन कर नहीं आया था . माँ का हाथ सीधे अंकल के “लन्ड” से टकरा गया . माँ ने फ़ौरन लुंगी की गाँठ खोली तो “लन्ड” फनफना कर बाहर आ गया .
माँ बोली :- हाय अल्ला, इतना बड़ा “लन्ड” मेरी बेटी की बुर में घुसा था ? बाप रे बाप ये आदमी का “लन्ड” है की घोड़े का “लन्ड” ? अरी जन्नत मैं तेरी बुर की तारीफ करूंगी . जिस बुर ने इतने बड़े “लन्ड” को अपने अन्दर पेलव लिया वह कोई छोटी मोटी बुर नहीं है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
बड़ी सालिड बुर है मेरी बेटी की और ऐसी बुर बड़ी नसीब वालों को देता है खुदा ?
माँ झुकी और “लन्ड” चूमने लगी . तब तक मैंने माँ के सारे कपडे उतार दिया . माँ बिलकुल नंगी हो गयी और अंकल भी बिलकुल नंगे हो चुके थे . इतने में फिर किसी ने दरवाजा खटखटाया . मैंने खोला तो देखा की सामने दो जवान लड़के खड़े है . मैंने उनके ना पूंछे और माँ से कहा माँ साजिद और इकरार आये है . माँ ने कहा उन्हें अन्दर बुला लाओ . ये दोनों तुम्हे चोदने आये है जन्नत ? तेरी चूत आज रात इनके लिए बुक है . मैंने उन्हें अन्दर बुला लिया . वे दोनों आ गए माँ ने मुझे इशारा किया तो मैं ट्रे लेकर कमरे में आ गए उसमे पांच पैग शराब थी . एक अंकल के लिए, एक माँ के लिए दो साजिद और इकरार के लिए और एक मेरे लिए . हम सबने एक एक पैग एक ही बार में पी लिया .
माँ बोली :- साजिद और क्या पियोगे ?
साजिद :- अब मैं जन्नत की चूंची पियूँगा
इकरार :- और मैं जन्नत की चूत पियूँगा .
वे दोनों मेरी ओर लपके और मुझे देखते ही देखते सबके सामने नंगी कर दिया . साजिद मेरी दोनों चूचियां मसलने लगा और इकरार मेरी चूत चाटने लगा . थोड़ी देर में मैंने उन दोनों को आमने सामने ऐसा लिटा दिया की लंड के सामने लन्ड और पेल्हड़ से पेल्हड़ हो गए . मैंने झुक कर दोनों लन्ड अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया . मैं लन्ड मुठीयाने लगी . कभी यह लन्ड कभी वह लन्ड चूमने लेगी चाटने लगी . उधर अनवर अंकल मेरी गांड सहलाने लगा . माँ उसका लन्ड पी रही थी . अंकल दूसरे हाथ से माँ की भोषडा सहला रहा था . मैंने देखा की सजिद और इकरार के लन्ड बहुत सख्त है . अंकल का लन्ड बड़ा जरुर है लेकिन इतना सख्त नहीं है . थोड़ी देर के बाद मैं घूम गयी और साजिद के लन्ड पर बैठ गयी . लन्ड मेरी बुर में घुस गया और कूद कूद कर चुदाने लगी . इकरार का लन्ड हाथ में लेकर चाटने लगी . इकरार मेरे सामने खड़ा था और खड़ा था उसका लन्ड मेरे मुह में सामने . इकरार भोषड़ी का बीच बीच में लन्ड मेरे मुह में पेल देता था . जैसे की मुह नहीं चूत हो . उधर अंकल ने भी लन्ड मेरी माँ के भोषडा में पेल रखा था . मैं माँ के सामने चुद रही थी और माँ मेरे सामने चुद रही थी . जवानी का असली मज़ा हम पाँचों लेने में जुटे थे . दो चूत और तीन लन्ड का अनोखा खेल चल रहा था . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | इतने में इकरार ने मुझे अपने लन्ड पर बैठा लिया और मैं साजिद का लन्ड चूसने लगी . उधर सकील अंकल माँ को कुत्ते की तरह पीछे से चोदने लगा .मैंने फिर पैंतरा बदला मैं घूम कर इकरार के लन्ड पे बैठ गयी . मैंने अपनी गांड उठा दी और चुदाने लगी . फिर मैंने साजिद से कहा की तुम मेरी पीछे से गांड मारो . मैं गांड और बुर एक साथ चुदवाने लगी . फचर फचर फच्च फच्च गच्च गच्च भच्च भच्च की आवाजें कमरे में गूँज रही थी . मेरे सामने मेरी माँ सकील अंकल के लन्ड पर बैठ कर चुदवा रही थी धचा धच्च, गचा गच्च, इस झमाझम चुदाई के सारा कमरा महक उठा . लन्ड और चूत की स्मेल से और जोश बढ़ रहा था .
माँ बोली :- हां यार, जन्नत तू तो बड़ी चुदककड़ हो गयी है री ? बड़े बड़े लन्ड गप्प कर जाती है . तेरी बुर तो गधे का भी लन्ड खा जायेगी .?
मैंने कहा :- हां यार सबीना तेरी भोषड़ी का माँ का भोषडा, साला इतना बड़ा सकील का लन्ड खा गया और डकार तक नहीं ली . ऐसा भोषडा तो खाला का भी नहीं है . बुआ का भी भोषडा इतना मस्त नहीं है . तुझे तो लन्ड का बड़ा तजुर्बा है . तेरी गांड भी लन्ड के लिए मुह उठाये रहती है .
माँ बोली :- हां यार, गांड हो चाहे बुर, चूंची हो चाहे मुह हर जगह लन्ड की जरुरत पड़ती है .पहली चुदाई ख़तम हुई सबने खूब मज़ा लिया . अब मेरी माँ की निगाह साजिद और इकरार के लन्ड पर टिक गयी . मैं समझ गयी माँ दूसरी पारी में इन दोनों से चुदवाना चाहती है . हम सब लोग नंगे ही थे . हमने नंगे नंगे ही डिनर लेना शुरू किया .
सकील :- सबीना भाभी, मुझे तेरा भोषडा चोदने में बड़ा मज़ा आया . तेरी बेटी जन्नत भी बिलकुल इसी तरह चुदवाती है . दोनों की चूत मुझे ज़न्नत का मज़ा देती है . आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
माँ बोली :- हाय अल्ला, सकील मेरे देवर राजा तेरा लौड़ा तो खुदा ने इत्मीनान से बनाया है . इतना बड़ा और मोटा लन्ड बहुत कम लोगों का होता है . मैं तो तेरे लन्ड की दीवानी हो गयी हूँ .
इतने में पीछे से एक आवाज़ आयी :- अरे भाभी, मेरे भी देवर का लन्ड पकड़ कर देखो ? बिलकुल सकील भाई जान के लन्ड की तरह लगता है . मैं बड़ी देर से सकील का लन्ड देख रही हूँ . मुझे साजिद और इकरार के भी लन्ड पसंद आ गए है .
माँ बोली :- अरी अमीना तू ऊपर से कैसे आ गयी . क्या दरवाजा खुला रह गया था ? ( अमीना मेरे घर में एक किरायेदार है )
अमीना आंटी :- अरे भाभी, चुदवाने के नाम जब बुर खुल जाती है ये तो दरवाजा ही है . जब लन्ड सामने होता है तो हम बुर वाली सब कुछ भूल जाती है . तुम कहो तो भाभी मैं अपने देवर को बुला लूं . अब तुम उससे चुदवा कर देखो . लन्ड पसंद न आये तो मेरी गांड पर लात मार कर मुझे भगा देना .
मैंने कहा :- आंटी, तुम्हे अपने देवर के लन्ड पर इतना गुमान है ?
आंटी :- हां जब तुम उसके लन्ड को अपनी बुर में पेलोगी तो तुम भी गुमान करोगी .
मैंने कहा :- अच्छा तो बोलो आंटी बदले में तुम किसका लन्ड लोगी ?
अमीना आंटी :- मैं इन तीनो के लन्ड बारी बारी से लूंगी . तुम चिता न करो मैं तुम्हे दुगुना मज़ा लन्ड दे सकती हूँ . मेरे पास विदेशी लन्ड भी है आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | बात तय हो गयी हम सब अमीना आंटी की बात मान गए . करीब आधे घंटे के बाद मैंने देखा की अमीना आंटी एकदम नंगी नंगी अपने देवर का लन्ड हाथ से पकडे हुए हमारी ओर आ रही है . मेरी नज़र उसके लन्ड पर पड़ी तो वाकई मेरी आँखे खुली की खुली रह गयी . लन्ड एकदम चिकना ? बहुत बड़ा लन्ड ? सकील अंकल के लन्ड से भी बड़ा लग रहा था . चार इंच का तो सुपाड़ा ही था लगभग . एकदम टन टनाता हुआ लन्ड मेरे सामने आकर खड़ा हो गया . मेरा हाथ सीधे लन्ड पर चला गया . नंगी तो मैं थी ही . सभी लोग नंगे थे . हम सबको नंगे देख कर उसका लन्ड और जोश में आ गया . साला बहन चोद लन्ड जोश में अपनी मुंडी हिलाने लगा . आपे से बाहर हुआ जा रहा था लन्ड . मैं हैरान थी की इंसान का इतना बड़ा लन्ड भी हो सकता है क्या ?
मेरी माँ बोली :- हाय अमीना गज़ब है तेरे देवर के लन्ड जैसा लन्ड मैंने आज तक नहीं देखा ? यार क्या खाता है इसका लन्ड ? आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
अमीना आंटी :- तेरी ऐसी औरतों का भोषडा खाता है और जन्नत ऐसी लड़कियों की चूत ?
मैंने कहा :- आंटी, लगता है की इसकी माँ ने किसी गधे से चुदवाया होगा तभी इतने बड़े लन्ड वाला आदमी पैदा हो गया ?
अमीना आंटी :- यार कुछ भी हो मज़ा तो हम लोगों को आएगा न ?
बस मैं उसके लन्ड पर जुट गयी . उसका सुपाड़ा चाटने लगी . मेरे साथ मेरी माँ भी लन्ड चाटने लगी . उधर अमीना आंटी सकील अंकल का लन्ड सहलाने लगी और साजिद व् इकरार के लन्ड मुह में लेकर चाटने लगी . इस तरह रात भर हुई चोदा चोदी | तो कैसी लगी हमारी स्टोरी आप मुझे ईमेल कर सकते है : [email protected]



loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. May 21, 2017 |

Online porn video at mobile phone


xxn xcom sexi handwiरश बरी सेक्सी कहानिया व फोन नम्बरbahbie sasur sexe kahniexxx randi ki condom chda hua land photo.comगोरा शिल भग xsxx videoBiwi chudai aur ki hindi kahnyabhabhi sex hindi storyhinde hot khania 4 usavse jada xxx kis umar ki gerl me maja aata himama na rat ko doka dakr coda hende saxy khaneeya antrwasna.comxxx chudai istorima ke sath pahli bar jabardastisex story hindi mexnxx anthrwasana sex kahanewww.saxy.hindi.stories.high.society.bate.biwi.sarvantसेक्सी कहानीय्दिदी की की सहेली ने जबरन चुदवाईantarvasna sex stories com/hindi-font/archivehinadi sex storyhindi.family with.sex.story.kahaniMaa aur army ki kamukta kahanihindi saxy kahniफेमली मे चिदाईpariver me adla badli sex group chut chudaaiकूँवारी चुत कि चुदाई फोटोjija sali /sasur bahurani /nokarani/babhi ki bahan ki kahaniराजसथानी शेकशी व बलातकार की कहानीयाsakse kahny ful gandesabse jada kon chudti h ki.khani in hindi xxxsaxy kahani kamukte comचेदाई की कहानीबहन की सैकसी कहानियाhindi bf kahanichudkar paribarik हिंदी gurup चुदाई कहानी हिंदीnindemesexivideoxxx.com ladki padnaxxx khane ganw meरिश्तों की चुदाईसटोरीwww.girls our kutteki sex kahanigandu bachay ki chudaiठणडी की चुदाई की कहानीMaa ki anterwasnasexstory.comchodai wala kahani pati ka samnexxx com maa ke sath bete ka honeymoon oq chudai hindi kahaniya reading onlyकहानीचोदाइhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/अदला बदली सेक्स कथा हिन्दीkhanibur.hindihuee chodi cht chane ke khet me xxx videohindi ma saxe khaneyasirf ma sex kahani3gp sexy kahniya hindi maykamukta sating fXXXXXX MAA KE CUDAY NEWbhai land khada he bahan boli xxnxchodankahanihindi.hindisxestroymama ki ladaki aur uski friend ko khet me choda storiessaxhindikahani com राजस्थान में खेत में भौजाई की बड़े लड से चुदाई कहानियाkhani sex combur ke kahaninambar one hinde kahani sixwww.anita ne Tiwari ke sath chudai kisabse banker chudai video ladkiyon kimeri virgin bur ki sachi paheli chudaimatch me chudayikamukta xxx hindi storyभाई की चुदीई देखीxxxcom Bhai bhen istoriबड़ी चडाई कहानियाँpariwar me chudai ke bhukhe or nange lognon veg dot com kamkuta saxy adult chudai storyhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/सपना दीदी की ग्रुप चुदाई हिंदी स्टोरीअच्छी चूत चुदाई की कहानी पती पतनी सवागरात सेकसीristo me chudai kahani hindi meSASU MA KE XXX KAHANErepe srx hindi kahanuबुर चुदाई की कहानी हिंदी मूवी मस्तरामsamuhic sex story parivar me hindi bhasha me newsis ko ma banayawww.mastram kee kahane.comwww.google.marisaci.kahaniy.hindimराजस्थान पाली मे भाभी की बड़े लड से चुदाई कहानिया mote land ki chudae photo sexxxxwwwwdasi hindhindi chodai kahani braa ka hukxxx khani zabardste old hindiCHUT KI CHIKO BARI MAST CHUDAI JABRDAST HINDI KAHANIhindi ma saxe khaneyaमम्मी की प्यासी फैली सहेली की हिन्दी कहानियोंXXX KAHANIhot sex kahani hindiबड़े भाई की बेटी अपनी भतीजी की चुदाई noukrani ki cuudai hindi kahni videomeri group chudai shaadi par storiesगैर मर्द ने बीवी को मोटे ल** से चोदा हिंदी सेक्स स्टोरी