आज जैसे ही मुझे पता चला की भैया बाहर 3 दिन के लिये बिज़नस के काम से जा रहे है तो में मन ही मन खुशी से झूम उठा और रात का इंतज़ार करने लगा. मेरी पायल आंटी बहुत ही सेक्सी ओरत है, उनका फिगर भी बहुत ही आकर्षक है, बड़े बड़े बूब्स, गोरा रंग, मदमस्त चीज़ है. अब चूँकि पायल आंटी से में पहले सेक्स कर चुका था. इसलिये हम आपस मे खुल गये थे. इस बार काफ़ी दिनो के बाद यह मौका आया था. शाम को भैया के जाने के बाद पायल आंटी किचन मे काम कर रही थी तो मेंने किचन मे जाकर पायल आंटी को पीछे से पकड़ लिया और बोला की पायल आंटी आज तो में दूध पीऊँगा, तो वो हंसते हुये बोली पी लेना अभी गर्म तो होने दो, मैने हंसते हुये कहा तो गर्म करो ना में तो पीना चाहता हूँ, तो वो बोली आज स्पेशल दूध केसर डालकर पिलाऊँगी. मैने कहा मुझे काली भैस का नही, तुम्हारा पीना है इससे स्पेशल और कहाँ होगा पायल आंटी हंस के बोली बदमाश हो गया है चल भाग, काम करने दे. पायल आंटी जल्दी करना और में बाहर आकर टी.वी सीरियल देखने लगा और फिर टीवी पर एक सेक्सी फिल्म आने लगी बहुत सेक्सी फिल्म थी. में उसे देखने लगा, सीरियल ख़त्म होने पर पायल आंटी अपने कमरे में जाते हुये बोली “तो दूध गर्म करके रखा है जाकर पी लेना, मैने कहा मुझे यह नही पीना, में सोने जा रही हूँ और ख्याल रखना ज़्यादा देर नही हो” पायल आंटी दूध लेकर पहले अपने कमरे में गयी. में समझ गया. और मैने जल्दी ही टी.वी बंद कर दी और पायल आंटी के रूम मे चला गया देखा तो पायल आंटी लेटी हुई थी में भी उनके बगल में जाकर लेट गया. में पायल आंटी के बूब्स पर हाथ फेरने लगा, आंटी ने ब्लाउज के बटन खोल रखे थे. मैने कहा पायल आंटी क्या हुआ और मैने ब्रा का हुक खोल दिया और बोला क्यो क़ैद कर रखा है इनको कम से कम रात को आज़ाद कर दो और मैने उनके बूब्स को दबा दिया उन्होने ब्लाउज उतार दिया अब पायल आंटी की चूचियां आज़ाद थी. क्या मद मस्त थी और पायल आंटी बोली दूध साइड में टेबल पर रखा है, पी लो ना और पायल आंटी उठकर दूध का ग्लास लाई, मैने उनके पेटीकोट का नाडा खोल दिया और वो झट से नीचे आ गिरा और वो नीचे कुछ भी नही पहने थी…फिर वो बोली यह दूध पी लो” मैने कहा जब सामने खुद इतनी सुंदर दूधवाली खड़ी हो तो यह काली भैंस का दूध कौन पियेगा और मैने उनकी चूचियो को ज़ोर से दबा दिया और उन्हे मुहँ मे ले लिया पायल आंटी ने कहा “पर इसमें दूध कहाँ है” यह कहते हुये मेरे मुहँ मे से अपनी चूचि छुड़ा कर उठी और दूध का ग्लास उठा कर मेरे मुहँ मे लगा दिया. मैने थोड़ा पिया और ग्लास लेकर बाकी पीने के लिये पायल आंटी के मुहँ में लगा दिया. पायल आंटी ने भी थोड़ा पिया और मुहँ से ग्लास हटाते हुये कहा, “मैने दूध पी लिया था” इस बीच दूध उछल कर पायल आंटी की चूचियों पर गिर गया. में उसे अपनी जीभ से चाटने लगा. अब तो पायल आंटी ग्लास लेकर अपनी चूचियों पर धीरे-धीरे दूध गिराती रही और में मज़ा ले-ले कर उसे चाटते गया. चूचियां चाटने से पायल आंटी के सारे बदन में सुरसुरी होने लगी, इस बीच थोड़ा दूध बह कर पायल आंटी की नाभि से होता हुआ चूत तक चला गया. मेरी जीभ दूध चाटते-चाटते नीचे आ रही थी और पायल आंटी के बदन में सनसनी फैल रही थी. पायल आंटी दूध गिराये जा रही थी दूध बूब्स से होता हुआ वही से नीचे आ गया था अब मेरे होठ पायल आंटी की चूत के ठीक उपर होकर दूध चाट रहे थे. में फिर जीभ को उपर की तरफ कर बूब्स के पास ले आया और उनके बूब्स दबा कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा पायल आंटी भी गर्म हो रही थी और बोलने लगी “ओह राजा! इसी तरह चूसते और चाटते रहो. बहुत अच्छा लग रहा है. मैने कहा क्या मस्त दूध है ऐसा नशा और कहाँ है. मुझे तो यही पीना है रोज पायल आंटी बोली ये क्या कर रहे हो मैं मस्ती से पागल हो रही हूँ….. ओह राजा चलो और….. ज़ोर से चूसो….बहुत अच्छा लग रहा है मेरी पायल आंटी और में उनके बूब्स को चूसता रहा फिर पायल आंटी ने मेरे लंड को हाथों मे ले लिया तो में बोला तुम भी पी लो ना इसका दूध …बोली इसमे दूध कहाँ होता है. में बोला दूध नही तो मलाई तो होती है ना….और उस पर पायल आंटी ने दूध गिरा दिया और ग्लास मे जो मलाई थी मेरे लंड पर डाल दी और उसे अपनी जीभ से चाटने लगी और अपनी जीभ फेरने लगी. मैने उसके सिर को पकड़ कर कहा चूस ले ना अब इसका मलाई वाला दूध और लंड को पायल आंटी के मुहँ की तरफ ठेला और अब तो उसे चूसने लगी और मेरे लंड को अंदर बाहर कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी उम्म्म्म….उम्म्म अहह…की आवाज़ आ रही थी मेरा लंड तन कर बड़ा हो गया था और चुदाई के लिये पूरा तैयार था पायल आंटी भी अब रुक नही पा रही थी. पायल आंटी की चूत भी उसे पाने के लिये बेकरार थी. मेरा लंड भी अब पायल आंटी की चूत से मिलने के लिये बेकरार था. पायल आंटी अब सीधे लेट गयी और उसने चुदाई का निमंत्रण दे दिया. में भी तुरंत ही पायल आंटी के उपर आ गया और एक झटके मे पायल आंटी की चूत में अपना पूरा लंड घुसा दिया. पायल आंटी भी नीचे से कमर उठा कर लंड और चूत दोनो को आपस मे मिलने मे सहयोग देने लगी. दोनो इस समय इस प्रकार मिल रहे थे मानो कई बरसो बाद मिले हो. मैने रफ्तार बडाते हुये पूछा, “क्या करूँ रानी पायल आंटी ?” पायल आंटी बोली अंदर तक तो कर दिया अब पूछता है क्या करूँ चल चुदक्कड़ कहीं का” उन्होने मेरे होठ चूम लिये और बोली किये जा जैसे तेरी इच्छा हो.  में अब और धक्के लगा रहा था और पायल आंटी की चूत नीचे से उनका जबाब दे रही थी. घमासान चुदाई चल रही थी. और पायल आंटी के मुहँ से सिसकारियां निकलने लगी…आह…उईईईईईईईईईईईई… .क्या कर रहा है रे……..ज़ोर से चोदो राजा चोदो… मेरी चूत भी कम नही है….. कस-कस कर धक्के मारो मेरे राजा, चोदो ज़ोर से इस साली चूत को, जो हर समय चुदाने के लिये बेचैन रहती है… चोदो अब तो में भी तूफान मैल की तरह चुदाई करने लगा. चूत से पूरा लंड निकलता और पूरी गहराई तक पेल रहा था. में तो स्वर्ग की हवाओ मे उडने लगा.. पायल आंटी क्या मजा आ रहा है मेरी रानी..खा..जमके.. “हाँ राजा ! और ज़ोर…से… बड़ा मजा आ रहा है……और जोर से……. ..ओह माआअ ओह मेरे राजा बहुत अच्छा लग रहा है…में भी अब उपर से कस कस कर धक्के पर धक्का लगाते हुये बोल रहा था.  रानी तुम्हारी चूत ने तो आज मेरे लंड को पागल बना दिया है वो इस सुंदर चूत का दीवाना हो गया है इसे चोद चोद कर जब तक तुम चाहोगी जन्नत की सैर करूँगा रानी बहुत मज़ा आ रहा है. फिर पायल आंटी भी बोली उईईईईईई….चोदो …चोदो….चोदो…और चोदो, राजा साथ-साथ झड़ना….ओह हाईईईईईईईईई आ जाओ…. चोद दो…. ओह….ओह अहह ईईसस्सस्स मेरे सनम…..अब नही रुक पाऊँगी ओह में … मर…गई.” इधर में कस कस कर धक्के लगाकर साथ-साथ झड़ गया. सचमुच इस चुदाई से में बहुत खुश था और पायल आंटी ने भी पूरी मस्ती मे चुदाई का भरपूर मज़ा लिया. अब हम दोनो झड़ चुके थे मैने पायल आंटी का जोरदार किस लिया और पायल आंटी की चूंचियों के बीच सिर रख कर उनके उपर थोरी देर पड़े रह कर अपनी सांसो को शान्त करने के बाद पायल आंटी के बगल में ही लेट के उनके पास मे लिपट कर सो गया, सुबह पायल आंटी ने उठाया और कहा उठना नही है क्या…… और मेरे लंड को दबा दिया….कहा जल्दी फ्रेश हो जाओ….मेंने ब्रश किया फिर पायल आंटी चाय लाई और हमने चाय पी.  फिर मैने देखा पायल आंटी और अपने चूत मटकाती हुई बाथरूम की तरफ चली गयी. में भी पायल आंटी के पीछे पीछे बाथरूम मे चला गया और अंदर जाकर गेट बन्द कर दिया. पायल आंटी ने अपने कपड़े उतार दिये, मैने भी सारे कपड़े उतार दिये और अब मैने शावर खोल दिया. हम दोनो के नंगे जिस्म पर पानी की फुवारे पड़ने लगी. बाथरूम में लगे बड़े शीशे में मैं देख रहा था, शावर के नीचे पायल आंटी के उत्तेजक बदन और बड़ी बड़ी चूचियो पर पानी पड़ रहा था, वो चूचियो से टपकता पानी जो पैरों के बीच पायल आंटी कि चूत से होता हुआ पेरों पर छोटी-छोटी धार बनाते हुये नीचे गिर रहा था. जो बहुत ही सेक्सी लग रहा था मेरी छाती से गिरता हुआ पानी लंड पर से धार बनाकर बहता पानी आज बहुत अच्छा लग रहा था. पायल आंटी ने मेरा लंड हाथ में ले लिया और सुपडे को खोलने और बंद करने लगी. लंड हाथ में आते ही कड़क हो कर खड़ा हो गया.   अब मैने पायल आंटी के बूब्स को और सारे शरीर को अपनी छाती से चिपका कर उनके होठों अपने होठों में ले लिया. पायल आंटी की कसी हुई बड़ी बड़ी चूचियाँ मेरे सीने में रगड खाने लगी फिर पायल आंटी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत से सटा लिया और थोड़ा पैर फेला कर चूत पर रगड़ने लगी. फिर मैने पायल आंटी के सारे बदन पर साबुन लगाया उनके बूब्स को और चूत के उपर भी खूब मसला फिर हम दोनो एक दूसरे के बदन पर फिसलने लगे पायल आंटी अपने बूब्स को पूरे बदन पर दबाकर फिसला रही थी, बड़ा मज़ा आ रहा था फिर मैने शावर को तेज कर दिया और हमारे बदन पर लगे साबुन को पानी से हटा दिया.  इसके बाद में पायल आंटी के बूब्स को दबाते और सहलाते हुये पायल आंटी के होठों को चूस रहा था और मेरे लंड को पायल आंटी की चूत अपने होठ से सहला रही थी. बैठकर नहाने के लिये रखे स्टूल पर पायल आंटी ने अपना एक पैर उठा कर रख लिया और मेरे लंड को चूत मे घुसने का मौका मिल गया. शीशे में दिख रहा था मेरा लंड अंदर बाहर होते हुये मेरी प्यारी चूत से खिलवाड़ कर रहा था. पायल आंटी की चूत उसे पूरा अपने अन्दर लेने की कोशिश कर रही थी. कुछ देर बाद पायल आंटी अपने आप को छुड़ा कर बाथ-टब को पकड़ कर झुक गयी. पायल आंटी के गोल गोल बड़े बड़े चूतर उठे हुये थे में उन्हे दबा दबा कर जीभ से चाटने लगा और दाँत से काटा भी पायल आंटी बोली क्या करता है अब रहा नही जा रहा है और मै पायल आंटी की चूत को देखने लगा. मैने उस पर अपने तनतनाते हुये लंड को लगा कर धक्का दिया. पूरा लंड झट से चूत में समा गया. फिर क्या था लंड और चूत का खेल शुरू हुआ. शीशे मे जैसे ब्लू फिल्म चल रही हो, जिसकी हीरोइन पायल आंटी थी और हीरो में.  मेरा लंड पायल आंटी की चूत में अंदर बाहर हो रहा था जिससे पायल आंटी की चूत पागल हो रही थी पर मुझे शीशे में लंड का घुसना और निकलना बहुत अच्छा लग रहा था. शावर से पानी की फुहार हम दोनो पर पड़ रही थी, हम लोग उसकी परवाह ना कर तन की आग मिटाने मे लगे थे. में पीछे से पायल आंटी की चूचियाँ पकड़ कर बराबर धक्के लगाये जा रहा था. शीशे में अपनी चुदाई देख कर पायल आंटी भी काफ़ी गर्म हो चुकी थी इसलिये पायल आंटी भी अपनी चूत को आगे पीछे कर गपगप लंड को चूत में ले रही थी और बोलती जा रही थी, “अरे यार….. ! बहुत अच्छा लग रहा है….इस चुदाई में चोदो मेरे सनम जिंदगी का पूरा मज़ा ले लो…. मेरे बलम…… तुम्हारा लंड बड़ा जानदार है…… मारो राजा धक्का….. और ज़ोर से….. राजा और ज़ोर से…. और ज़ोर से…… इस जालिम लंड से फाड दो मेरी चूत बहुत अच्छा लग रहा है….”पीछे से चुदाई में आंटी के हाथ झुके-झुके होने के कारण दुखने लगे फिर पायल आंटी बोली- “राजा ज़रा रूको, इस तरह पूरी चुदाई नही हो पा रही है, लेटा कर चोदने में पूरा लंड घुसता है तो झड़ने में बहुत मज़ा आता है”  फिर मैने शावर बंद किया. और पायल आंटी वही गीले में ज़मीन पर लेट गयी और बोली, “अब उपर आ कर चुदाई करो” अब में पायल आंटी के उपर था. और पायल आंटी की चूत मे लंड डालकर भरपूर चुदाई करने लगा. और पायल आंटी की चूत मे लंड पूरा का पूरा अंदर बाहर हो रहा था और पायल आंटी नीचे से उछल उछल कर साथ देते हुये कह रही थी, “अब चुदाई का मजा मिल रहा है मारो राजा मारो धक्का… और ज़ोर से हाँ! राजा इसी तरह से चोदो इस चूत को… अहह ईसस्स्स्स्स्स्स्सस्स ओह. में कस-कस कर धक्का मार मार कर पायल आंटी की चूत को चोद रहा था. थोड़ी देर बाद मेरा लंड पायल आंटी की चूत की गहराई में चला गया और हम दोनो साथ-साथ झड़ गये.

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


www.google.marisaci.kahaniy.hindim.skyXXX KHANIxxx raja ar rani kui chudai ki kahani hindi www xxxsadi sudastori bhabhi sooti hai koi bahar se akar chudai Kare boor me dard ka bahana karke chudai ki kahani risto mehindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/Xxx hot priya bhabhiantarasnaसेक्सी कहानीय्antrwasna sex kahaniyabeti se sucking karwai hindi chudaai kahaanibur.chodai.ki.kahani.hinedi.meपैसे नहीं थे तो चुदवायाअन्तर्वासना सुहागरात फर्स्ट टाइमCoot land kahni bahen ke cuhdai holi imgnSEXI PATI NE MUJE DOG SE chudawaya KAHANIYAchachi ne gand chataya hindiBua ki kamuktaHINDE ST0RY ANUJ MAME CHUT 2018 XXXXbahan bani bai ki waja sa randi hindi sexe kahaniyaचुदाई मोटे बड़े लंड-रिश्ते की सेक्स कहानीantarvasna malish sex story devar bhabhipita ko pati aur bache ka baap incest urdu sex storiसेकसी कहानीया अडीयो youtoxxx sil pek father zabrdati hidiकॉलेज में मुस्लिम मैडम की जबरदस्त चुदाई की२०१८ मा बेटे की सेक्स कहानीnewey hende chudai.combhabi ka chodamom porn video bato me chud gay hindi randihindisxestroyएक लड़के के प्यार मे उसके दोस्तो ने रात भर जम के चोदा की रीयल कहानी हिन्दी मेhindi sex story randi bahanhttp://bktrade.ru/tag/gandi-kahani/15 sal ki bahin ki cudai ki kahaniyahindi ma saxe khaneyaBhabhiko chodadese tareke seLand ki pyasi didi and chachi ki kahaniआनटी की चुत फाड दी भतीजे ने सेकसी कहानी हिन्दी मेmastram ki xxx kahaniya hindi meदेवर ने मेरी बूर फ़री और भाई ने गण्ड मरीsuhagraat sex privatepapa mammy ko chodte dekhasexy storyse sexystoryhindi. चुत चुदाई कलके बच्चा पैदा करना विडियोस्टेन chusne ke storein hindimeuncle ne dulhan bana seal todi kamukta.comWww.jabardasti teacher bhabhi bahu mummy chudai ki hindi kahaniya photos kae sath.comभाई के साथ होली मे चुदाईdidi jija aur mummy papa ki sex stprisex kahani padha kar ma ko choda storysex kahani inrendi bhabhi me aur meri familyxxx chudai istorifiree new sexi chut me land dal ker ras nikala hindi khaniyahot vabi k lagate chaiआंटी को ड्राइवर चुदाई कहानी बताओऔरत का आपने देवर के साथ चुदावाती हुई विडीयो chudai ke 3g vedo me क्सक्सक्सएन्टी के चूड़ी हिंदी जबरजस्तीMera naam deepali hai antarvasnarandi ka rif khane.comdidi chud chud k randi bnn gyikamuktadownload sex kahanishaifali ki bra gown chudai ki kahanipariwar me chudai ke bhukhe or nange logmera barast xxxbhiye bhen ki sxe storis newbhabi or bateja xxx video sel torमेरी बीवी एक साथ साथ लोगो से छुड़ाईकुवांरी चुत की ग्रुप बहुत हार्ड चुदाइ कहानियाँchoti sestar or bhabi ke chct chudai kahani hindi mesexe mastram papa ka landpakava jabarajasati rep sex videoविधवा दीदी को रखैल बनाया कौलेज कि छात्राओं चौदा